Top 10 Moral Stories in Hindi for Class 7

Top 10 Moral Stories in Hindi for Class 7

Moral Stories in Hindi

इस लेख में हम आपको Top 10 Moral Stories in Hindi for Class 7 की एक कलेक्शन उपलब्ध करा रहे हैं। इन सभी कहानियों के अंत में उस कहानी से जुड़ी नैतिक शिक्षा भी मिलेगी।

हर कहानी आपको कुछ नया नैतिक पाठ सिखाएगा, जिसका आप अपने जीवन में उपयोग कर सकते हैं और एक बेहतर इंसान बन सकते हैं। यह सभी Moral Stories in Hindi for Class 7 बहुत ही रोचक और शिक्षाप्रद हैं।

Top 10 Moral Stories in Hindi for Class 7

इन्हें पढ़कर और इन कहानियों से मिली सीख से आप अपने जीवन में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं वह कौन सी रोचक कहानियां है और देखते हैं उन कहानियों से हम क्या सीख सकते हैं।

 

धैर्य का पाठ (Moral Stories in Hindi for Class 7)

Top 10 Moral Stories in Hindi for Class 7

एक गांव में एक साधु रहते थे, जो बहुत ही ज्ञानी थे। उनके पास कई सारे बच्चे पढ़ने के लिए दूर-दूर से आते थे। एक दिन साधु ने अपने सभी शिष्यों की परीक्षा लेने का फैसला किया।

परीक्षा लेने के लिए उन्होंने अपने सभी शिष्यों को पास बुलाकर सभी से कहा कि – बच्चों मुझे आज बहुत प्यास लगी है, मैं आप सभी को एक-एक टोकरी दे रहा हूँ और इस टोकरी में पास के नदी से मेरे लिए पीने के लिए पानी ले आओ।

यह सुनते ही सभी बच्चे सोंच में पड़ गए कि हम टोकरी में पानी कैसे भरेंगे, टोकरी के छेद में से तो पानी नीचे गिर जायेगा। पर फिर भी अपने गुरु की बात मानते हुए सभी बच्चे नदी के तरफ पानी भरने के लिए चल पड़े।

नदी के पास पहुंचते ही जब उन बच्चों ने टोकरी में पानी भरने की कोशिश की।लेकिन सारा का सारा पानी टोकरी के छेद के नीचे से गिर जा रहा था। ऐसे में सभी बच्चे निराश हो गए और अपने गुरु के पास बिना पानी के ही वापस चल गए।

पर उनमे से एक बच्चे ने टोकरी में पानी भर लिया था, और उसने अपने गुरु को टोकरी से पानी पीला दिया था। इसके बाद अगले दिन, गुरु ने अपने सभी शिष्यों को बुलाकर इस परीक्षा के बारे में बताते हुए कहते हैं की आप में से एक शिष्य इस परीक्षा में पास हुआ है और वही आपको बताएगा कि उसने टोकरी में पानी कैसे भरा।

फिर वह शिष्य कहता है – गुरु जी, नदी से टोकरी में पानी भरते हुए सारा पानी छेद से नीचे गिर रहा था। पर मैंने धैर्य रखा और कुछ समय बाद टोकरी से पानी गिरना बंद हो गया क्योकि टोकरी के छेद में कंकड़ फंस गए थे। इस तरह मैंने टोकरी में पानी भरा और आपको पानी पिलाया।

“किसी भी लक्ष्य को पाने के लिए धैर्य रखना चाहिए”

 

मेहनत का फल (Class 7 Moral Stories in Hindi)

Class 7 Moral Stories in Hindi

एक समय की बात है, एक शहर में राजू नाम का लड़का रहता था। वह12वीं कक्षा में पढ़ाई करता था और एक गरीब परिवार से आता था। घर वालों की मदद करने के लिए राजू स्कूल की छुट्टी के बाद एक दूकान पर काम भी करने के लिए जाता था।

कुछ समय बाद 12वीं की परीक्षा पास आ जाती है और सही से ना पढ़ने के कारण राजू उस परीक्षा में फैल हो जाता है। जिसके बाद राजू बहुत दुखी और निराश हो जाता है, और घर पर अपनी माँ के पास रोते रहता है।

माँ ने राजू को समझते हुए कहा – बेटा, जिंदगी में उतार-चढ़ाव तो चलते रहता है। तुम इस बार फैल हो गए तो क्या हुआ। अभी से मेहनत करो और अगले साल की परीक्षा में अच्छे नंबर ला कर हम सभी का नाम रोशन करो।

अपनी माँ की बात सुनकर राजू को हौसला मिला और उसने उसी दिन से मेहनत करनी शुरू कर दी। उसके बाद राजू ने रात-रात भर पढ़ाई करता था और साथ में वह घर वालों की मदद के लिए पैसे भी कमाता था।

उसने यह ठान लिया था कि चाहे जो हो जाए, अब मैं अपनी कक्षा में बहुत अच्छे नंबर लाऊंगा। समय बीतने के बाद जब अगले साल की परीक्षा शुरू हुई, तो राजू ने उसमे अपना 100% दिया और जब उस परीक्षा का रिजल्ट आया तो उसमे राजू ने पूरी कक्षा में First(अव्वल) नंबर हासिल किया था।

यह देख कक्षा केसभी विद्यार्थी हैरान रह गए। पर यह राजू की कड़ी मेहनत थी, जिसके कारण वो कक्षा में अव्वल(First) आया। कक्षा में अव्वल स्थान पर आने पर राजू के टीचर और उसके माता-पिता सभी बहुत खुश हुए।

“अगर ठान लिया जाए तो दुनिया का कोई भी लक्ष्य असंभव नहीं है”

 

Also Read:

30+ Best Moral Stories in Hindi for Class 5
Top 10 Moral Stories in Hindi for Class 7
नीले सियार की कहानी
सोने का अंडा
लालची कुत्ते की कहानी
गधा और धोबी की कहानी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *