the blue jackal short story in hindi

The Blue Jackal Story in Hindi | नीले सियार की कहानी

Moral Stories in Hindi

आज हम The Blue Jackal Story in Hindi (नीले सियार की कहानी) के बारे में बात करने वाले हैं। वह सियार अपने नीले बालों के कारण दूसरे जानवरों से काफी अलग था। दूसरे जानवर उससे मेलजोल नहीं रखते थे और उससे दूर रहते थे।

वह हमेशा अकेला ही रहता था। एक दिन नीले सियार को एक तरकीब सूझती है, जिससे कि वह दूसरे जानवरों की भीड़ में मिल सके। तो आइए जानते हैं नीले सियार की अनोखी यात्रा के बारे में और उससे मिलने वाली महत्वपूर्ण सबक के बारे में।

The Blue Jackal Story in Hindi

एक समय की बात है एक जंगल में एक सियार रहता था। दूसरे भूरे बालों वाले सियारों के विपरीत, इस सियार का बाल नीले रंग का था। नीला सियार बहुत ही चतुर और चालाक था, जिसके कारण वह जंगल में चर्चा का विषय बना हुआ था।

एक दिन जब नीला सियार जंगल में घूम रहा था, तब उसने दूसरे जानवरों को एक दावत के बारे में बात करते हुए सुना। उस दावत को जंगल का राजा शेर आयोजित कर रहा था।

राजा को हाल ही में बड़ी मात्रा में स्वादिष्ट फल मिले थे, इसलिए वह सभी जानवरों को उस दावत में आमंत्रित कर रहा था। नीले सियार को भी दावत का नाम सुनकर लालच आ गया। लेकिन वह जानता था कि उसके नीले रंग के कारण दूसरे जानवर कभी उसका स्वागत नहीं करेंगे।

blue jackal story images
Blue Jackal Story Images

दावत में जाने के लिए नीला सियार एक चालाक योजना बनाता है। वह कीचड़ में लोटकर खुद को एक भूरे सियार के रूप में छुपाने का फैसला करता है। वह सोचता है कि अगर वह भूरे रंग का हो जाएगा तो उसे दावत में जाने से कोई नहीं रोकेगा। कीचड़ में पूरी तरह लोटने के बाद वह दावत के लिए जाता है।

जब नीला सियार दावत में पहुंचता है, तो दूसरे जानवर उसे नहीं पहचान पाते। उसका भी दूसरे जानवरों की तरह खुशी से स्वागत किया जाता है और किसी को उसकी असली पहचान के बारे में पता नहीं चलता।

वह दूसरे जानवरों की भीड़ में घुल मिल जाता है और दोस्त बना लेता है। नीले सियार को स्वादिष्ट फलों का स्वाद चखकर बहुत खुशी हुई। उसे अपनेपन का एहसास होता है जो उसने पहले कभी महसूस नहीं किया था।

लेकिन नीले सियार की तरकीब ज्यादा देर तक नहीं चल सकी। जैसे-जैसे शाम ढलती गई, सभी जानवर एक होलिका के चारों ओर इकट्ठे हो गए और मस्ती में नाचने गाने लगे। खुशी के माहौल में नीला सियार भी बह गया और उत्साह में वह अपना भेष बदलना भूल गया।

The Blue Jackal Story in Hindi
Blue jackal story images

जैसे ही वह नाचना शुरू किया उसके शरीर की कुछ गंदगी धुलने लगी। जिससे उसका नीले रंग का बाल दिखने लगा। जब दूसरे जानवरों को यह एहसास हुआ कि उन्हें नीले सियार ने धोखा दिया है तो वह सब आश्चर्य में पड़ गए।

शर्मिंदगी महसूस करते हुए नीले सियार ने भागने की कोशिश की, लेकिन भीड़ ने तुरंत उसे घेर लिया। शर्म के मारे उसने अपना सिर झुका लिया।

उसे आश्चर्य हुआ जब जंगल का राजा शेर आगे बढ़ा और शांत तरीके से बोला “मेरे प्यारे दोस्तों, हमें दूसरों को उनके रंग रूप के आधार पर नहीं आंकना चाहिए। यह चतुर सियार बल या ताकत से नहीं, बल्कि अपनी बुद्धि से हमारी दावत में शामिल हुआ है। हालांकि उसने हमें धोखा दिया है, लेकिन हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि वह भी हमारे जंगल परिवार का एक हिस्सा है।”

शेर की बात सुनकर सभी जानवर प्रभावित हुए। उन्हें केवल उसकी शक्ल के आधार पर नीले सियार को नकारने में अपनी गलती का एहसास हुआ। उस दिन से, नीले सियार को उसकी बुद्धिमत्ता के लिए जंगल के दूसरे जानवरों द्वारा स्वीकार और सम्मान किया जाने लगा।

The Blue Jackal Story Moral in Hindi

“सच्चा मूल्य बाहरी दिखावे से नहीं, बल्कि किसी के चरित्र और कर्मों से निर्धारित होता है। हमें हर किसी के साथ विनम्रता से व्यवहार करना चाहिए, भले ही वे कैसे भी दिखते हों।”

हम आशा करते हैं कि आपको the blue jackal short story in hindi पसंद आई होगी और इस कहानी से मिलने वाले सीख को आप हमेशा याद रखेंगे। अगर आपको यह कहानी पसंद आई तो कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय जरूर रखें।

Also Read:

Golden Egg Story in Hindi | सोने का अंडा कहानी
Lion and Rabbit Story in Hindi | Aasman Gira Story in Hindi
Lalchi Kutta Story in Hindi with Moral | लालची कुत्ते की कहानी
Farmer and His Four Sons Story in Hindi

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *